Best Miss You Shayari in Hindi for 2020 (New Shayari) - ShayriWorld.in

Breaking

ShayriWorld.in

Not Just Shayris

Sunday, January 12, 2020

Best Miss You Shayari in Hindi for 2020 (New Shayari)

Miss You Shayari, New Miss You Shayari, Latest Miss You Shayri, Miss You Shayari 2020, Best Latest Miss You Shayari, Hindi Miss You Shayari, Yaad Shayari, Miss u Shayari.




Socha yaad na kar ke thoda tadpau unko,
Kisi aur ka naam lekar jalau unko.
Par chot lagegi unko to dard mujhko hi hoga,
Ab ye batao kis tarah satau unko.


सोचा याद न करके थोड़ा तड़पाऊं उनको,
किसी और का नाम लेकर जलाऊं उनको,
पर चोट लगेगी उनको तो दर्द मुझको ही होगा,
अब ये बताओ किस तरह सताऊं उनको।



Sukh gaye phool par bahar wohi hai,
Door rehte ho par pyar wohi hai,
Jante hain hum mil nahi pa rahe hain aapse,
Magar.. in aankhon mein mohabbat ka intezar wohi hai. 🍂


सूख गए फूल पर बहार वही है,
दूर रहते है पर प्यार वही है,
जानते है हम मिल नहीं पा रहे है आपसे,
मगर.. इन आंखो में मोहब्बत का इंतजार वही है! 🍂





Tu dil se na jaye to main k‍ya karu,
Tu kh‍yalon se na jaaye to main k‍ya karu,
Kehte hai khwabo mein hogi mulakat unase,
Par neend na aaye to main k‍ya karu.


तु दिल से ना जाये तो मैं क्‍या करू,
तु ख्‍यालों से ना जाये तो मैं क्‍या करू,
कहते है ख्‍वावों में होगी मुलाकात उनसे,
पर नींद न आये तो मैं क्‍या करू। 💕



Tere intjar mein kab se udas baithe hain,
tere didar mein ankhe bichaye baithe hain,
tu ek nazar ham ko dekh le bas,
is aas mein kab se bekrar baithe hain.


तेरे इंतजार में कब से उदास बैठे हैं,
तेरे दीदार में आँखे बिछाये बैठे हैं,
तू एक नज़र हम को देख ले बस,
इस आस में कब से बेकरार बैठे हैं।



Aap Ki Dhadkan Se Hai Rishta Humara,
Aap Ki Saanso Se Hai Nata Humara,
Bhool Kar Bhi Kabhi Bhool Na Jana,
Aap Ki Yaado Ke Sahare Hai Jina Humara.


आपकी धड़कन से हैं रिश्ता हमारा,
आपकी साँसों से हैं नाता हमारा,
भूल कर भी कभी भूल न जाना,
आपकी यादों के सहारे हैं जीना हमारा! 💕



Tum Banke Dost Aise Aaye Zindagi Mein,
Ki Hum Yeh Zamana Hi Bhool Gaye,
Tumhen Yaad Aaye Na Aaye Hamari Kabhi,
Par Hum To Tumhe Bhulana Hi Bhool Gaye.


तुम बनके दोस्त ऐसे आए ज़िंदगी मे,
के हम ये ज़माना ही भूल गये,
तुम्हे याद आए ना आए हमारी कभी,
पर हम तो तुम्हे भूलना ही भूल गये!



Aankhen Kholu To Chehra Tumhara Ho,
Band Karoo To Sapna Tumhara Ho,
Mar Bhi Jaao To Gam Nahi,
Agar Kafan Ke Badle Aanchal Tumhara Ho.


आँखे खोलू तो चेहरा सामने तुम्हारा हो,
बंद करू तो सपना तुम्हारा हो,
मर जाऊ तो भी कोई गम नही,
अगर खफन के बदले आँचल तुम्हारा हो!



Udas aankhon mein apani karaar dekha hai,
Pahali baar use beqaraar dekha hai,
Jise khabar na hoti thi mere aane jaane ki,
Uski aankhon mein ab intazaar dekha hai.


उदास आँखों में अपनी करार देखा है,
पहली बार उसे बेक़रार देखा है,
जिसे खबर ना होती थी मेरे आने जाने की,
उसकी आँखों में अब इंतज़ार देखा है।



Mehfil mein kuch to sunana padta hai,
Gum chupakar muskurana padta hai,
kabhi ham bhi dost the aapke,
Aaj kal aapko yad dilana padta hai.


महफ़िल मैं कुछ तो सुनाना पड़ता हैं,
गम छुपाकर मुस्कुराना पड़ता हैं,
कभी उनके हम थे दोस्त,
आजकल उन्हें याद दिलाना पड़ता हैं।



Meri yaadon mein tum ho ya mujh mein hi tum ho,
Mere khwabon mein tum ho ya mera khwab hi tum ho,
Dil mera dhadak ke puche baar-baar ek hi baat,
Meri jaan mein tum ho ya meri jaan hi tum ho!


मेरी यादो में तुम हो, या मुझ मे ही तुम हो,
मेरे ख्यालो में तुम हो, या मेरा ख्याल ही तुम हो,
दिल मेरा धड़क के पुछे बार बार एक ही बात,
मेरी जान में तुम हो या मेरा जान ही तुम हो।



In aankho me aansoo aaye na hote,
Woh jo mud kar muskuraye na hote,
Unke jane ke baad ye gam hota hai,
Kash woh jindgi me aaye na hote!


इन आंखो मे आंसू आये न होते,
अगर वो पीछे मुडकर मुस्कुराये न होते,
उनके जाने के बाद बस यही गम रहेगा,
कि काश वो हमारी ज़िन्दगी मे आये न होते।



Aaj Teri Yaad Ko Seene Se Laga Kar Roye,
Apne Khwabon Mein Tujhe Paas Bulake Roye,
Hazaron Baar Pukara Tujhe Tanhaiyon Mein,
Aur Har Baar Tujhe Paas Na Paa Kar Roye.


आज तेरी याद सीने से लगा कर हम रोये,
तन्हाई में तुझे पास बुला कर हम रोये,
कई बार पुकारा इस दिल ने तुम्हें,
हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोये।



Dil Ki Baat Chhupana Aata Nahi,
Kisi Ka Dil Dukhana Aata Nahi,
Aap Sochte He Hum Bhul Gaye Aapko,
Par Kuchh Achhe Dosto Ko Bhulana Humko Aata Nahi.


दिल की बात छुपाना आता नही,
किसी का दिल दुखाना आता नही,
आप सोचते है हम भूल गए आपको,
पर कुछ अच्छे दोस्तो को भूलना हमको आता नही.



Mehfil mein kuch to sunana padta hai,
Gum chupakar muskurana padta hai,
kabhi ham bhi dost the aapke,
Aaj kal aapko yad dilana padta hai.


मेहफिल मैं कुछ तो सुनाना पडता है,
ग़म छुपाकर मुस्कुराना पडता है,
कभी उनके हम भी थे दोस्त,
आज कल उन्हे याद दिलाना पडता है।



Tujhe dekhe bina teri tasvir bana sakta hoon,
Tujhse mile bina tera haal bata sakta hoon,
Hai meri dosti mein itna dum,
Apni aankh ka aansoo teri aankh se gira sakta hoon.


​तुझे देखे बिना तेरी तस्वीर बना सकता हूँ,
तुझसे मिले बिना तेरा हाल बता सकता हूँ,
है मेरी दोस्ती में इतना दम,
तेरी आँख का आँसू आपनी आँख से गिरा सकता हूँ।



Tere gam ko apni ruh me utar lu,
Jindagi teri chahat me sabar lu,
Mulakat ho tujhse es tarah,
Tamam umar bas ek mulakat me gujar lu.


तेरे गम को अपनी रूह में उतार लूँ,
जिन्दगी तेरी चाहत में सवार लूँ,
मुलाकात हो तुझ से कुछ इस तरह,
तमाम उमर बस इक मुलाकात में गुजार लूँ।



Jab khamosh aankho se baat hoti hai.
Aise hi mohabbat ki shurwat hoti hai.
Tumhare hi khyalo mein khoye rehte hai.
Pata nahi kab din kab raat hoti hai ?


जब खामोश आँखो से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख़यालो में खोए रहते हैं
पता नही कब दिन और कब रात होती है



Kisne kaha aapki yaad nahi aati,
Bina yaad kiye koi raat nahi jati,
Waqt badal jata hai, aadte nahi jati,
Aap khaas ho.. ye baat har bar to kahi nahi jati.


किसने कहा आपकी याद नही आती,
बिना याद किये कोई रात नही जाती,
वक्त बदल जाता है, आदत नही जाती,
आप खास हो, ये बात हर बार तो कही नही जाती।



Ham juda hue the phir milane ke liye,
zindagi ki raahon mein sang chalane ke liye,
tere pyaar ki kashish dil mein basi hai kuchh is qadar,
dua hai tera sath mile zara sambhalane ke liye


हम जुदा हुए थे फिर मिलने के लिये,
ज़िंदगी की राहों में संग चलने के लिये,
तेरे प्यार की कशिश दिल में बसी है कुछ ईस क़दर,
दुआ है तेरा साथ मिले ज़रा संभलने के लिये।



Jab jab yaad karogi apani tanhaiyo ko,
ek jalata charaag sa nazar aauga main
raah se rahaguzar ban ke bhi gujar jaogi,
ek mil ka patthar sa khada nazar aauga main..


जब जब याद करोगी अपनी तन्हाईयो को,
एक जलता चराग सा नज़र आऊगा मैं
राह से रहगुज़र बन के भी गुजर जाओगी,
एक मिल का पत्थर सा खड़ा नज़र आऊगा मैं..

No comments:

Post a Comment