कम्प्युटर क्या है?

आज का युग कंप्यूटर का युग है। बिना कंप्यूटर के जीवन अधूरा है। कंप्यूटर क्या होता है? आप सभी को पता है की कंप्यूटर क्या होता है लेकिन इसके बारे में ऐसी बहुत सी बातें है जो आप नहीं जानते   क्या आप जानते  है की कंप्यूटर  का हिंदी नाम क्या है।  चलो आप को नहीं पता तो मै बता देता हूँ संगणक। आज आप कंप्यूटर की सभी जरूरी चीजों को जानेंगे। कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन या उपकरण होता है जो की हमारे इम्पोर्टेन्ट डेटा को हमारे निर्देशों को इनपुट के रूप में ग्रहण करके उनको सेव करता है इसे डेटा का भंडार भी कहा जाता है या फिर स्टोरेज डिवाइस, इसकी गति बहुत ही तेज़ होती है और ये अपने काम में कभी भी गलती नहीं करता ये अनेको प्रकार की गणना एक साथ भी कर सकता है। तेज़ गति – ये तो आप सभी को पता होगा की कंप्यूटर बहुत ही तेज़ गति से गणनाएं कर सकता है।  कंप्यूटर एक सेकंड में करोडो गणनाएं एक साथ कर सकता है कंप्यूटर के प्रोसेसर की जो स्पीड होती है उसको हर्ट्ज़ से मापा जाता है। कंप्यूटर एक स्वचालित उपकरण के रूप में कार्य करता है। जब एक बार उपयोगकर्ता कंप्यूटर को निर्देश दे देता है तो उसके बाद कंप्यूटर सारा कार्य अपने आप ही करता है,   फिर उसको कुछ भी बताने या निर्देश देने की ज़रूरत नहीं होती तथा इस दौरान इंसानी हस्तक्षेप की सम्भावना बहुत ही कम होती है| ये अपना काम बखूबी निभाता है। गलती  नहीं करता  कंप्यूटर बहुत तेज़ी से त्रुटीरहित गणनाएं कर सकता है| अगर कंप्यूटर को प्रयोग करने वाला कंप्यूटर में निर्देश देते समय गलती न करे तो कंप्यूटर सारी गणनाएं सही सही करता है| अगर गणना करते समय कोई त्रुटी पायी जाती है।  तो वह आपके कंप्यूटर की गलती नहीं होती वो आपकी गलती होती है। प्राइवेसी भी होती है कंप्यूटर में  एक विकल्प होता है प्राइवेसी जिसका इस्तेमाल करके कोई भी मनुष्य अपने प्राइवेट डेटा को कंप्यूटर में सुरक्षित रख सकता है| कोई दूसरा व्यक्ति उसको नहीं देख सकता और ना ही उसे पा सकता है| आप पासवर्ड का प्रयोग करके ये सब कुछ कर सकते है। 

“कंप्यूटर एक विद्युतचलित (Electronic) यंन्त्र/उपकरण (Device) है, जो उपयोगकर्ता (User) द्वारा दिए गए जानकारी (डाटा/इन्फोर्मेशन)/आदेश/कार्य को दिए गए निर्देशानुसार (Instructions) पुरा करता है|”

कंप्यूटर शब्द अंग्रेजी के “Compute” शब्द से बना है, जिसका अर्थ है “गणना” करना होता है , इसीलिए इसे गणक यंत्र या गणक य़ा संगणक भी कहा जाता है, यह गणितीय सवालों को हल करने में सक्षम होता है| इसका अविष्कार calculation करने के लिए हुआ था पुराने समय में कम्प्युटर का उपयोग केवल calculation करने के लिए किया जाता था परन्तु आज कंप्यूटर का उपयोग गणितीय कार्यों, E Mail, listening and viewing audio and video, play games, database preparation के साथ साथ कई कामों में किया जाता है जैसे बैंकों में, शैक्षणिक संस्थानों में, कार्यालयों में, घरों में, दुकानों में कम्प्युटर का बहुतायत रुप से उपयोग किया जा रहा है| जैसे हवाई जहाज चलाना, मोटरकार चलाना, तिकिट जारी करना, ATM मशीन से रूपए निकालना, पुस्तकों का मुद्रण करना, दस्तावेज तैयार करना, छायाचित्र/चलचित्र संपादित करना, संगीत बजाने जैसे कई कार्य किए जा सकते हैं|

कम्प्युटर केवल वही कार्य करता है जो हम उसे करने को बोलते है यानि केवल वह उन्हीं commond को follow करता है जो पहले से कम्प्युटर के अन्दर डाले गये होते है, उसके अन्दर सोचने तथा समझने की क्षमता नहीं होती है। कम्प्युटर को जो व्यक्ति चलाता है उसे युजर कहते हैं और जो व्यक्ति कम्प्युटर के लिए programme बनाते हैं उन्हें programmer  कहते हैं।

कम्प्युटर को मूलत: दो विभागों में बटा गया है:-

♦ साफ्टवेयर

♦ हार्डवेयर

कंप्यूटर, कई हार्डवेयर (पुर्जे) और सोफ्टवेयर इन दोनों के परस्पर समन्वयन से बनता है| ऐसा कहना बिल्कुल भी ग़लत न होगा की हार्डवेयर कंप्यूटर का शरीर होता है तो वहीँ सोफ्टवेयर कंप्यूटर के मस्तिष्क की तरह कार्य करती है और विद्युत/बिजली कंप्यूटर में आत्मा का संचार करती है|
चूँकि कंप्यूटर का उपयोग, इंसानों द्वारा ईच्छित कार्य को सरलता से, सटीकता से एवं जल्दी से करने के लिए किया जाता है इसीलिए उपयोगकर्ता (User) को भी कंप्यूटर का एक अभिन्न अंग माना जा सकता है|

Computer Ka Full Form

Common Operating Machine Particularly Used in Technology Education and Research”

कंप्यूटर एक तेज, सटीक और कभी न थकने वाला यन्त्र है|

हालाँकि, Computer शब्द अंग्रेज़ी का एक अर्थपूर्ण शब्द है, जिसका अर्थ ‘गणना कराने वाला’ होता है, कुछ लोग कंप्यूटर शब्द को विस्तृत कर उसे परिभाषित करने की कोशिश करते हैं जैसे,

have a peek at this site del toro dating http://amazingmarbella.com/?menstryaciy=rencontre-kate-middleton-et-william&b38=a8 sitios para despedidas de solteros rencontre facebook amoureuse femmes cherche homme pour mariage maroc connections dating sarasota addicted to dating sites https://grasshopperinventory.co.uk/violere/155 कुछ भी स्टोरेज कर सकते है कंप्यूटर में  अनेको  सूचनाओं तथा डाटा का संग्रहण किया जा सकता है| आप इसमें कितना भी डेटा हो सभी सेव कर सकते है। हम डाटा तथा सूचनाओं को कई तरह से संग्रहण कर सकते है| इनमे कुछ बाहरी तथा कुछ आंतरिक होते है| जैसे, आज के समय में एक्सपेंडेबल  हार्ड  डिस्क का प्रयोग भी होने लगा है कंप्यूटर में राम, रोम में आप अपना इम्पोर्टेन्ट  डेटा को सेव कर सकते है।

तकनीकि की खोज भारत में भले ही देर से हुई हो लेकिन सुपर कम्प्युटर के क्षेत्र में भारत का नाम टाप 10 देशों की लिस्ट में आता है आईए जानते है भारत में सुपर कम्प्युटर की शुरुआत कैसे हुई-

First Indian Super Computer भारत का पहला सुपर कम्प्युटर (महासंगणक)

1980 के दशक तक में भारत के पास अपना सुपर कम्प्युटर नहीं था वह एसा दौर था जब भारत में तकनीकि युग की शुरुआत हो चुकी थी भारत अमेरिका से सुपर कम्प्युटर लेना चाहता था लेकिन अमेरिका ने भारत को सुपर कम्प्युटर देने से इंकार कर दिया था इसके पीछे कई वजहें थी जैसे कि अमेरिका चाहता था कि उसकी बराबरी कोई न कर पाए। लेकिन भारत में सेंट्रल आफ डेवलपमेंट पुणे द्वारा “परम 8000” बनाकर दुनिया को बता दिया कि हम भी किसी से कम नहीं इसके बाद भारत ने सुपर कम्प्युटर “परम 8000” तीन देशों जर्मनी, युके और रुस को दे दिया। इसके बाद 1998 में सी-डेक द्वारा एक सुपर कम्प्युटर बनाया जिसका नाम था “परम 10000” इसकी गणना क्षमता 1 खरब प्रति सेकण्ड थी। आज भारत का विश्व में सुपर कम्प्युटर के क्षेत्र मे नाम है। दुनिया के बेहतरीन कम्प्युटरों की सूची बनाई गई जिसमें भारत टाप 10 में चौथे नम्बर पर है।

भारत के अन्य सुपर कम्प्युटर (India’s Other Super Computers)

♦ Aaditya – आदित्य

♦ Anupam – अनुपम

♦ Param Yuva – परम युवा

♦ Param Yuva II – परम युवा द्वितीय

♦ SAGA- 220 – सागा 220

♦ EKA – एका

♦ Virgo – वर्गो

♦ Vikram-100 – विक्रम-100

♦ Cray XC40 – क्रे XC40

♦ Bhaskar – भास्कर

♦ Pace – पेस

♦ Flow Solver – फ्लो साल्वर

दुनिया के 5 सबसे बेहतरीन कम्प्युटरों की सूची (List of Best 5 Computer’s In the  World)

♦ तिअन्हे-1अ (एन यु डी टी), चीन

♦ ब्लु जीन / एल सिस्टम (आईबीएम), यु एस

♦ ब्लु जीन / पी सिस्टम (आईबीएम), जर्मनी

♦ सिलिकान ग्राफिक्स (एसजीआई), न्यु मैक्सिको

♦ एका सीआरएल (आर्म आफ टाटा सन्स), भारत

हमें सोशल मीडिया पर Follow अथवा Like अथवा Subscribe करें Facebook, Twitter, Linkedin, Instagram, Youtube…..

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *